18 December 2017, Mon

आइडिया में होगा वोडाफोन का विलय

Created at March 20, 2017

आइडिया में होगा वोडाफोन का विलय
Updated at March 20, 2017
 

मुंबई। आदित्य बिड़ला समूह की कंपनी आइडिया सेलुलर लिमिटेड के निदेशक मंडल ने ब्रितानी कंपनी वोडाफोन की भारतीय इकाइयों वोडाफोन इंडिया लिमिटेड (वीआईएल) तथा वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड (वीएमएसएल) के विलय की मंजूरी दे दी। विलय के बाद आइडिया देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा कंपनी बन जायेगी।

 

आईडिया सेलुलर ने बीएसई को बताया कि नयी कंपनी में वोडाफोन की हिस्सेदारी 45.1 प्रतिशत होगी। पहले शेयरों का आवंटन इस प्रकार किया जायेगा कि नयी कंपनी में वोडाफोन की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत हो, जिसमें वोडाफोन 4.9 प्रतिशत हिस्सेदारी आइडिया के प्रवर्तकों को 38.74 अरब रुपये में बेचेगी। इसके बाद उसकी हिस्सेदारी घटकर 45.1 प्रतिशत रह जायेगी, जबकि आदित्य बिरला समूह की हिस्सेदारी 26 प्रतिशत होगी। समझौते के तहत समूह के पास भविष्य में वोडाफोन से और शेयर खरीदने का भी अधिकार होगा। कंपनी ने बताया कि इस विलय को शेयरधारकों, ऋणदाताओं, पूंजी बाजार नियामक सेबी, शेयर बाजारों, भारतीय प्रतिस्पद्र्धा आयोग, दूरसंचार विभाग, विदेशी निवेश संवद्र्धन बोर्ड, रिजर्व बैंक और सरकारी एजेंसियों की मंजूरी मिलना शेष है तथा पूरी प्रक्रिया में दो साल का समय लगने की संभावना है।

 

दोनों कंपनियों ने एक संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति जारी की है, जिसमें कहा गया है कि इंडस टावर्स में वोडाफोन की 42 प्रतिशत हिस्सेदारी इस समझौते का अंग नहीं है। हालांकि, यह जरूर कहा गया है कि इस सौदे के पूरा होने से पहले वोडाफोन अपने एक टावर परिसंपत्ति तथा आइडिया इंडस टावर्स में अपनी 11.15 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचना चाहती है, जिससे संयुक्त कंपनी पर ऋण का दबाव कम किया जा सके। विलय के बाद नयी कंपनी के उपभोक्ताओं की संख्या बढ़कर 40 करोड़ हो जायेगी, जिससे ग्राहक संख्या के हिसाब से उसकी बाजार हिस्सेदारी 35 प्रतिशत तथा राजस्व के मद में बाजार हिस्सेदारी 41 प्रतिशत पर पहुंच जायेगी।

 

इसमें कहा गया है कि संयुक्त कंपनी की ब्रांड रणनीति बाद में तय की जायेगी। साथ ही नयी कंपनी को नया नाम भी दिया जायेगा। नयी कंपनी के पास देश की अन्य दूरसंचार कंपनियों से मुकाबले के लिए काफी क्षमता होगी। उसके पास 1.850 मेगा हट््र्ज स्पेक्ट्रम होता जिसके दम पर वह पर्याप्त मोबाइल डाटा क्षमता विकसित कर सकेगी। फिलहाल वीआईएल का नेट वर्थ 128.55 अरब रुपये तथा कारोबार 50.25 अरब रुपये, वीएमएसएल का नेट वर्थ 37.37 अरब रुपये तथा कारोबार 403.78 अरब रुपये और आइडिया सेलुलर का नेट वर्थ 242.96 अरब रुपये तथा कारोबार 360 अरब रुपये का है।