18 December 2017, Mon

अखिलेश भी महागठबंधन के लिए तैयार

Created at April 15, 2017

अखिलेश भी महागठबंधन के लिए तैयार
Updated at April 15, 2017
 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि गैर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दलों के किसी भी महागठबंधन में शामिल होने के लिए सपा तैयार है। पार्टी की सदस्यता अभियान की शुरूआत करने के अवसर पर यादव ने आज यहां पत्रकारों से कहा कि आने वाले समय में भाजपा के खिलाफ जो भी गठबंधन बनेगा सपा उसमें पूरी भूमिका निभायेगी, क्योंकि लोकसभा के अगले चुनाव की मुख्य लड़ाई उत्तर प्रदेश से ही होगी। इस राज्य में लोकसभा की सर्वाधिक 80 सीटें हैं। उन्होंने स्वीकार किया कि हाल ही में अपने दिल्ली दौरे के दौरान उनहोंने राष्ट्रवादी कांग्रेस के शरद पवार, बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार और बंगाल की मुख्यमंत्री तथा तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी से मुलाकात की थी।

 

गौरतलब है कि बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने भी गैर भाजपा दलों का गठबंधन बनाने की जरूरत बतायी थी। सपा अध्यक्ष ने कहा कि महागठबंधन के लिए सभी दल के नेताओं से मिलेंगे। बातचीत करेंगे। हो सकता है लोग एक मंच पर आ ही जायें। भाजपा पर झूठ के सहारे चुनाव जीतने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि क्या सभी स्लाटर हाउस बन्द हो गये। तमाम लोग सरकार से मिले हैं लेकिन अभी भी स्लाटर हाउस चल रहे हैं। कई तो हिन्दू भाई चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश, गोवा और असम समेत कई ऐसे भाजपा शासित राज्य हैं जहां स्लाटर हाउस धडल्ले से चल रहे हैं। गोवा और पूर्वाेत्तर के राज्यों में गोमांस भी बेचे जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के लिये अलग कानून और अन्य राज्यों के लिए अलग कानून कैसे बन सकता है।

 

भाजपा को उन्होंने झूठ के सहारे राजनीति करने वाली पार्टी बतायी। यादव ने इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम)पर सवाल खड़ा किया और मांग की कि अब सभी चुनाव मतपत्रों से ही होने चाहिए। ईवीएम पर कोई गड़बड़ी है तो इसकी जानकारी चुनाव आयोग को देनी चाहिए। आयोग बताये कि इसके साफ्टवेयर और कैलीब्रेशन में कहां गड़बड़ी है। आम आदमी या राजनीतिक दल कहां से इंजीनियर लायेंगे। उन्होंने कहा कि 14 दलों ने ईवीएम पर शक जाहिर करते हुए चुनाव आयोग से शिकायत दर्ज करायी है। इस पर आयोग को संज्ञान लेना चाहिए और चुनाव मतपत्रों से ही कराना चाहिए।